Satguru shayari or status in hindi

🏫🌹🏫🌹🏫🌹🏫🌹🏫🌹🏫
🙏गुरु चरणों मे स्वर्ग है गुरु सेवा में मुक्ति
🙏भवसागर उद्धार की गुरु पूजन ही युक्ति
🏫🌹🏫🌹🏫🌹🏫🌹🏫🌹🏫

इस कलियुग में जो दया जीवों पर हो रही है , शायद ही किसी युग में हुई हो । काम -क्रोध में तपते हुए जीव और फिर सतगुरु आकर उन्हें सम्भालते है ।

सतगुरु हुंदे जग दे दाता*
*जो एह चाहे कर सकदै,*
*पत्थर दिल वी एहना दी छोह नाल*
*भवसागर तों तर सकदै।*

💫💫💫💫💫💫💫💫💫💫💫
अमृत वेले आंख खुली,हुक्म सुमिरण का आया है
हम बड़े है खुशकिस्मत, सतगुरू ने हमें जगाया है

💫💫💫💫💫💫💫💫💫💫💫

एक दिन किसी ने मुर्शिद से पूछा
रात को उठ कर तेरी बंदगी करने का
फायदा क्या हे और अगर न करें तो नुकसान क्या है

मुर्शिद ने जवाब दिया
सुन बन्दे,,

अगर रात को तेरी आँख खुल जाए और तू फिर से सो जाए तो समझ लेना तूने मेरे साथ बेवफाई की हे..

पर अगर तेरी नींद खुल जाए और तू उठ कर इबादत करे.. मुझे याद करे बाद में मुझसे कुछ मांगे और में न दूँ.. तो समझ लेना मेने तेरे साथ बेवफाई की हे जो की में कभी नही करता।

आगे से कभी भी रात को जाग जाएं तो उस मालिक की याद में जरुर बैठे
भजन सिमरन जरुर करें जी।

       

सतगुरु जी के चरणों में माथा टेकता है उसकी ऊल्टी रेखाएँ सीधी ही जाती है

जब हम सच्चे मन से “सतगुरू को” खोजते हैं तो सतगुरू अपनी मौजूदगी का अहसास हमें जरूर करवाते हैं

काजल लागे किरकरो, और सुरमा सहा ना जाए । जिन नैनं में सतगुरु बसे, दुजा कौन समाये”

Richa: