अनमोल वचन

जब तक तुम्हारे हृदय में संसार की प्रीति विद्यमान है, तब तक ईश्वर तुम से दूर है । संसार की प्रीति को हृदय से हटाकर ईश्वर को याद करो, वे तुरन्त तुम्हारे हृदय में आ विराजेंगे।