शायरी

रूहानी शायरी – मेरे दिल में दिल का प्यारा है मगर मिलता नहीं । मेरे दिल में दिल का प्यारा है मगर मिलता नहीं । हर शै में उसका नज़ारा है मगर मिलता नहीं ॥ ढूँढता फिरता हूँ उसको दर-ब-दर और कूब्कू । हर जगह वो आश्कारा है मगर मिलता नहीं ॥

क़ामिल मुर्शिद शायरी ! kamil murshid shayri in hindi

क़ामिल मुर्शिद शायरी - मेरे दिल में दिल का प्यारा है मगर मिलता नहीं ।  क़ामिल मुर्शिद शायरी मेरे दिल… Read More