पौधों को पानी देने के टिप्स

पौधों को पानी देने के टिप्स

पौधों को पानी – इंसान हो या पेड़ पौधे सभी के लिए पानी जीवनदायी है बिना पानी के जहां इंसान डीहाइड्रेशन का शिकार हो बीमार पड़ जाता है वहीं पेड़ पौधे भी पानी के अभाव में मुरझा जाते हैं।

हमारे घरों में छोटा सा किचिन गार्डन तो होता है और यदि फ्लैट है तो हम अपनी बालकनी में भी पेड़ पौधे लगाकर अपने प्रकृति प्रेम को पूरा कर लेते हैं।

घर में लगे पेड़ पौधों के लिए पानी जितना जरूरी है उतना ही हानिकारक है उन्हें अधिक पानी देना। अक्सर घरों में लगे महंगे से महंगे इंडोर प्लांट्स पानी की अधिकता से ही मर जाते हैं क्योंकि हमें पता ही नहीं होता कि इन्हें कब और कितना पानी देना है।

आज हम आपको ऐसे ही कुछ टिप्स बता रहे हैं जो आपको अपने प्लांट्स की देखभाल में मदद करेंगे

प्रत्येक पौधे की पानी की आवश्यकता अलग अलग होती है घर में लगे इंडोर प्लांट्स की मिट्टी में एक इंच गहराई तक अपनी उंगली डालें यदि मिट्टी सूखी लगे तो ही पानी दें अन्यथा इंतजार करें।

• यदि किसी भी पौधे की पत्तियां आपको एकदम झुलसी और टहनी पर लटकती सी दिखें तो इसका सीधा तात्पर्य है कि पौधे को पानी की डिमांड है। यदि मिट्टी में आपको फंगस

लगी दिख रही है तो पानी देना बंद करके पौधे को धूप दिखाएं क्योंकि फंगस नमी की अधिकता से लगती है।

• पत्तियों के किनारे भूरे होने पर यदि वे छूने से टूट कर जमीन पर गिर जाए तो पानी कम है परन्तु यदि पत्तियां नरम हैं तो पानी अधिक है।

● पौधे की मिट्टी अगर निरन्तर गीली ही रह रही है तो गमले में से पानी ठीक से निकल नहीं रहा है इसे दूर करने के लिए गमले में से पानी के निकास को चेक करें।

• गमले में लगे पौधों की पत्तियों को स्प्रे बॉटल से स्प्रे करके नियमति रूप से साफ करें क्योंकि पेड़

पौधे अपनी पित्तयों के माध्यम से ही फोटो सिंथेसिस प्रक्रिया से श्वांस लेते हैं।

• स्नैक प्लांट, एग्लोनिमा, जेड प्लांट, एलोवेरा, अडेनिम, सिंगोनिम और मनी प्लांट जैसे पौधों को बहुत कम पानी की आवश्यकता होती है इन्हें आप केवल तभी पानी दें जब इनकी मिट्टी छूने पर एकदम सूखी प्रतीत हो ।

● गमले में मिट्टी भरते समय उसके ड्रेनेज सिस्टम पर पत्थर अवश्य रखें ताकि पौधे को पानी मिल भी सके और पानी की निकासी भी भली भांति हो सके। यदि आपका किचिन गार्डन बड़ा

है तो आप उसकी सिंचाई के लिए स्प्रिंकलर पद्धति का प्रयोग करें इससे सभी पौधों की पत्तियों की धुलाई भी हो जाती है और सिंचाई भी हो जाती है।

• कैक्टस यूं तो रेगिस्तान में उगने वाला पौधा है परन्तु आजकल लोग अपने घरों में भी इन्हें लगाने लगे है। इसे धूप अधिक और पानी बहुत कम चाहिए होता है इसलिए इन्हें आप 10 दिन में एक बार ही पानी दें।

● पौधों को पानी सीधे पाइप से न देकर पाईप में स्प्रे नोजल लगाकर दें इससे गमले की मिट्टी में एक समान पानी लगेगा।

Richa: